ए यू के साथ जुड़ें: 0141-6133000 0141-3071800 customercare@aubank.in

सी एस आर नीति

सामाजिक सरोकार के पहलुओं के उचित कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए, एक बोर्ड द्वारा स्वीकृत सामाजिक सरोकार की नीति को एक काँगरपोरेट सतत के तौर पर कंपनी को जिम्मेदारी निभाने की फिलोसोफी को चित्रित करती हैं यह नीति बड़े पैमाने पर समाज की भलाई और सतत विकास के लिए सामाजिक तौर पर उचित प्रोग्रामों को करने के लिए निर्देश और प्रक्रिया प्रदान करती है।

कंपनी की सोच के तहत हमारे सामाजिक सरोकार के पहलु समाज और हमारे समुयाद के निर्माण में (योगदान) को बढ़ाने के लिए काम जारी रखेंगे इसके तहत सतत अपनी सेवाओं, कार्यों और पहलुओं द्वारा समाज और ग्रुप सतत विकास जारी कर एक सामाजिक तौर पर ज़िम्मेदार काँगरपोरेट की अपनी भूमिका को निष्यादित करेंगे।

एक सामाजिक सरोकर कमेटी को उचित क्रियान्वयन और सामाजिक सरोकार के कार्यक्रमों को जारी रखने के लिए संगठित किया गया है जिसके सदस्य के रूप में कंपनी के निदेशक सामिल हैं।

सी एस आर धारणा

ए यू ने अपने प्रयास अपने समाज की महत्वपूर्ण आर्थिक और सामाजिक बेहतरी पर केंद्रित किए हैं। ए यू बैंक के लगातार कायम सी एस आर प्रयासो और कार्यक्रमो का उद्देश्य हैं की इन समुदायो में सतत आजीविका के लिए उपयुक्त परिस्थियों का निर्माण हों। सारी हमारा उद्देश्य है शिक्षा, स्वास्थ्य ध्यान और समाज विकास के क्षेत्रों में कुछ दृढ चुनौतियों का समाधान निकालना।

हमने सामाजिक प्राथमिकताओं का निरिक्षण किया और उसके अनुसार उचित पहल की हैं ताकि समाज की समृद्धि हो सके और हमारे व्यापारिक उद्देश्यों और सामाजिक प्राथमिकताओं में उचित संतुलन बन सके।

सी एस आर के महत्त्वपूर्ण क्षेत्र

  • शिक्षा/साक्षरता में बढ़ावा
  • स्वास्थ्य मेडिकल सुविधा
  • महिलाओं का सशक्तिकरण
  • रोज़गार का निर्माण
  • खेल गतिविधियों को बढ़ावा
  • प्राकृतिक और मानव निर्मित विरासत की सुरक्षा
  • ग्रामीण क्षेत्रों का विकास
  • समुदाय का विकास

हमारे सी एस आर के पहलु

जब हवा बहती है तब कुछ वह लोग होते हैं जो दीवारों का निर्माण करते हैं और फिर कुछ वह लोग भी होते हैं जो विंड मिल का निर्माण करते हैं। ए-यू एस एफ बी आर्थिक तौर पर कमज़ोर ग्रामीण क्षेत्रों में पहुँच कर समाजिक जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए सक्रिय प्रयास करता है। हम जिस समाज में ऑपरेट करते हैं। उसे सहयोग देने में यकीन रखते हैं। पिछले सालों में हमने समाज के ज़रूरी क्षेत्रों में सक्रिय कदम उठाए हैं जैसे कि स्वास्थ्य, शिक्षा, समाजिक विकास, विरासत कला और कल्चर। यह ज़रूरतें पूरी बड़े पैमाने पर युवाओं और देश का विकास होगा। ऊपर दी गई चीज़ों को ध्यान में रखते हुए हमने समाज के महत्त्वपूर्ण क्षेत्रों पर फोकस किया है - यूनिवरस्ल शिक्षा, स्वास्थ्य विरासत, कला और कल्चर। देश भर में फैले हमारे कर्मचारीयो के साथ हमने समाज के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण कार्यक्रम लागू किए हैं। कंपनी समाजिक उम्मीदों को ध्यान में रखते हुए अपने व्यापारिक अभ्यासों को बदलने के लिए और खुद को अडैप्टर करने के लिए तत्पर रहती है।

भारतीयों के स्वास्थ्य में सुधार करना

ए-यू भारतीय कैंसर सोसायटी को सहयोग देता है, जो भोजन, दवाई, ट्रांसपोर्ट,प्रोस्थेटिक, कोलोस्टॉमी बैग, सलाह की सेवाएं, सामाजिक भलाई और नौकरी देने वाली सेवाएं प्रदान करके हमारे देश के आर्थिक तौर पर कमजोर कैंसर के मरीज़ों का ध्यान रखता है। यह कैंसर के मरीज़ों को मौके भी देते हैं कि वह स्व नियोजित रहे ख़ास तौर पर वह जो ग्रामीण क्षेत्रों के हैं।

दूसरे पहलु

  • फ़्रैंड्स ऑफ ट्राइबल सोसायटी

ए-यू बैंक साथ जुड़ा फ़्रैंड्स ऑफ ट्राइबल सोसायटी (एफ टी सी)जो की गैर सरकारी स्वैच्छिक संस्था है जो कि कबायली समाज को अधिकार प्रदान करने के लिए काम करती है खास तौर पर जो भारतीय ग्रामीण क्षेत्र में बेकार जीवन व्यतीत करते हैं। एफ टी एस बच्चों को बुनयादी शिक्षा प्रदान करता है और महत्वपूर्ण मुद्दों के बारे में मार्दर्शन देता है जैसे कि स्वास्थ्य का ध्यान, विकास और सशक्तिकरण। उनका यह मानना है कि साक्षरता विकास कि चाबी है। एफ टी एस का निर्माण 1989 में कलकत्ता में हुआ था और पूरे भारत में इसके 27 चैप्टर हैं।

अक्षय पात्र फाउंडेशन

अक्षय पात्र फफाउंडेशन आर्थिक तौर पर कमज़ोर बच्चों को पोषाक भोजन देकर मदद करता है जिन्हें इसके अभाव में भोजन पाने के लिए काम करना पड़ता हैं। भोजन उनकी शिक्षा जारी रखने के लिए एक इन्सेन्टिव की तरह होता हैं। इस प्रोग्राम द्वारा अक्षय पात्र संस्था दो महत्त्वपूर्ण मुद्दों का समाधान करता है - भूख और अनपढ़ता। अक्षय पात्र के साथ ए यू की महत्त्वपूर्ण भागीदारी ने भूख से मुक्त शिसित्र और पोषित भारतीयों का निर्माण किया है।

प्रथम शिक्षा चॅरिटेबल ट्रस्ट

ए यू जयपुर में उन स्कूलो को चलाने में आर्थिक मदद कर रहा हैं जो प्रथम शिक्षा चॅरिटेबल ट्रस्ट द्वारा चलाए जाते हैं। प्रथम शिक्षा चॅरिटेबल ट्रस्ट पिछड़े क्षेत्रों के आर्थिक तौर पर कमज़ोर बच्चों को बुनयादी शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबंद्ध एक संस्था है। उन्हें ग़रीब समाज की सहायता देने में उपयोग करता हैं।

हम अपने आर्थिक तौर पर कमज़ोर एम्पलाईयों के बच्चों के लिए शिक्षा स्पांसर करते हैं हम शिक्षा का पूरा खर्चा उठाते हैं और इस आर्थिक बोझ से उन्हें मुक्त करते हैं।

स्वास्थ्य के लिए पहलु

  • मेडिकल कैंप

नज़र प्रदान करने के उद्देश्य के साथ ए-यू बैंक आँखों के शिविर करवाते हैं जिसमें मुफ्त आँखों की जांच, मुफ्त आँखों के ऑपरेशन और मुफ्त ऐनकें और दवाइयां प्रदान किए जाते है। हर शिविर में 100 सेअधिक लोगों को लाभ प्रदान करने का उद्देश्य होता है।

नेत्र शिविर के साथ, ए-यू अलग अलग स्थानों पर रक्तदान शिविर भी आयोजित करता है और यह सुनिश्चित करता हैं की बड़ीं संख्या में लोग शिविर में भागीदारी कर लोगों की रक्त की आवश्यकताएं पूरी हो सकें।

  • ए यू किड्स ज़ोन

ए-यू बैंक और ही कार्ड्स की संगठित कोशिशों के साथ जे के लोन अस्पताल में ए यू किड्स ज़ोन का निर्माण हुआ है (जे एल एन मार्ग, त्रिमूर्ति सर्कल के पास), राजस्थान के राज्य में सबसे बड़ा बच्चों का अस्पताल है। जयपूर जे के लोन यह पहल बच्चों के लिए अस्पताल में ऐसा वातावरण तैयार करने के लिए की गई हैं वह खुश महसूस करें और जल्दी ठीक हों।

ए यू किड्स ज़ोन लॉबी क्षेत्र के पास निर्मित है जिसे पहले अस्पताल का बेकार क्षेत्र माना जाता था। हीकार्ड्स ने इस क्षेत्र को तैयार किया है और बच्चों के लिए बहुत सारे रंग बिरंगे झूलों का निर्माण किया है।

ओपन एअर जिम

ए यू ने उचित फिटनेस और लोगों के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए जयपुर में खुली हवा में जिम का संस्थापन किया है। इससे लोगों ने खुली हवा में और फिटनेस ट्रेनर की निगरानी में कसरत करनी शुरू कर दी है और वह भी मुफ्त में।

पानी के कूलरों का संस्थापन

ए-यू बैंक ने बड़े पैमाने पर समाज की सेवा करने के उद्देश्य के साथ और समाज की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अलग अलग स्थानों पर जयपुर में 60 पानी के कूलरों का संस्थापन किया जिसका उद्देश्य है पीने के लिए साफ़ पानी प्रदान करना। ए-यू की जिम्मेदारी सिर्फ पानी के कूलरों के संस्थापन के साथ खत्म नहीं होती बल्कि समय समय पर उसका प्रबंध करना और उसकी मरम्मत करने की ज़िम्मेदारी भी ए-यू बैंक ने ली है।

सी एस आर के पहलु

शिक्षा के लिए पहलु:

  • बनस्थली प्रोजेक्ट

    बनस्थली प्रोजेक्ट के साथ ए यू की भागीदारी अध्यातमिक के समन्वय मूल्यों और वैज्ञानिक प्राप्तियों और शिक्षा जारी छात्राओं के सर्वागींण विकास के उद्देश्य से की गई थी। यह व्यावसायिक विकास पर फोकस करता है जो कि भारतीय सरकार का भी एक फोकस है। हमारे सी एस आर के अन्तर्गत हमने महत्वपूर्ण बनस्थली विद्यापीठ में योगदान दिया है ताकि शिक्षा में विकास और बढ़ावा हो सके। बनस्थली के साथ हमारी भागीदारी उनके बुनयादी ढाँचे से शुरू होकर उनके पहले कदम बढ़ाने तक बनी रहीं कदम है। ए-यू ने बनस्थली विद्यापीठ में 30 लाख रुपये का योगदान दिया है जो कि सी एस आर के अधीन हमारा एक महत्त्वपूर्ण योगदान है जिसका उद्देश्य 15000 लोगों को लाभ प्रदान करना हैं।